Sunday, January 31, 2016

गजब की ट्रिक ! संविधान के सवाल अब मिनटों में होगे हल... दिमाग में फिट कर लें ये टिप्स

दोस्तों भारतीय संविधान दुनिया का सबसे बड़ा लिखित संविधान हैं. संविधान से जुड़े सवाल तकरीबन हर परीक्षा में आते हैं. संविधान से जुड़ा ये सवाल अक्सर परीक्षा में आता है कि संसदीय विधि निर्माण, नीति निदेशक तत्व, आपातकाल, समवर्ती सूची जैसे प्रवधान किस देश से लिए गए हैं. इन सवालों से जुड़े तथ्यों को याद करने की शानदार ट्रिक पेश है. सभी प्रतियोगी छात्र इस ट्रिक का फायदा उठा सकते हैं. क्योंकि तकरीबन हर परीक्षा में इस सेक्सन से सवाल आने तय होते हैं. आराम से नीचे लिखे ट्रिक को पढ़िए और दिमाग में बैठा लीजिए.
TRICK
भारतीय संविधान में किन देशों से क्या लीया गया है इसे समझने के लिए ट्रिक देखिए.
‪#TRICK:-↡↥↥
एक बार कुछ देश के लोग बैठकर आपस में बातें कर रहे थे. भारत की तरफ से संविधान के प्रारूप समिति के अध्यक्ष डॉक्टर भीम राव अम्बेडकर चुप-चाप सुन रहे थे. बातें कुछ इस प्रकार हो रही थी.
.
‪#ब्रिटेन:-पूरे देश पे मेरा कब्जा था इसलिये संसद का निर्माण हम अकेले करेंगे.
(संसदीय प्रणाली, विधि निर्माण, एकल नागरिकता)
‪#अमेरीका:-नहीं मेरे पास संयुक्त राष्ट्र संघ है. इसलिए लोगों को न्याय और स्वतंत्रता दिलाना मेरा अधिकार है.
(न्यायिक, स्वतंत्रता का अधिकार और मौलिक अधिकार)
‪#जर्मनी:- तुम लोग हमें विश्व युद्ध में हराए हो इसलिए पहले मैं आपातकाल घोषित करुंगा
(आपातकाल का सिद्धांत)
‪#फ्रांस :- मैं तो पहले से ही गणत्रंत वाला देश हूं ये तो तुम सब जानते ही हो.
(गणत्रंतात्मक शासन व्यवस्था)
‪#कनाडा:- तुम लोग को जो करना हो करो. मैं एक शक्तिशाली देश हूं मैं तो शक्ति का बंटवारा करके अपनी सुरक्षा कर लूंगा.
(राज्यों में शक्ति का विभाजन)
#आयरलैंड :- अरे यार  ! तुम लोग की नीति निर्देश तो मेरे कुछ समझ में ही नहीं आ रहे हैं. (नीति निदेशक तत्व)
‪#ऑस्ट्रेलिया:- मैं विश्व कप क्रिकेट में हमेशा सूची नंबर-1 पर रहा हूं.
(समवर्ती सूची)
‪#दक्षिण अफ्रीका:- पर मैं इतना अच्छा खेलने के बाद भी आजतक सेमीफाइनल तक
भी नहीं पहुंच पाया. शायद हमें अपने खेल में कुछ संशोधन की जरुरत है.
(संविधान संशोधन की प्रक्रिया)
‪#रूस:- भारत मेरा दोस्त है और उसकी मदद करना हमारा मूल कर्तव्य है.
(मूल कर्तव्य का सिद्धांत)
सभी देशों का सुनने के बाद अंबेडकर जी ने बड़े ही आराम से कहा

#इंडियन कुछ ऐसा करते हैं कि दुनिया याद रखती है. ये लो दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र का सबसे बड़ा लिखित संविधान.
(दुनिया का सबसे बड़ा लिखित संविधान)

No comments:

Post a Comment